kagaaz

साहित्य, कला, और डिज़ाइन

हिन्दी शब्दतंत्र – शब्दकोश व साहित्य के डिजिटल अध्ययन का भविष्य ?

आज मैंने प्रिंसटन यूनिवर्सिटी के Wordnet (वर्डनेट) प्रोग्राम पर वर्कशॉप में हिस्सा लिया ;  वर्कशॉप में अनौपचारिक तौर पर वर्डनेट के उद्भव, विकास, संरचना तथा प्रयोग की चर्चा हुई ।  १९८५ … पढना जारी रखे

जून 13, 2015 · टिप्पणी करे

सरहपाद का गीतिकोष

कुछ दिन पहले मुझे कोलंबिया के अपभ्रंश रीडिंग ग्रुप के साथ सरहपाद रचित गीतिकोष को पढ़ने का मौका मिला ।  सरहपाद (८वी. शताब्ती) बौद्ध धर्म की सिद्ध परम्परा के सबसे प्रसिद कवि थे … पढना जारी रखे

जून 4, 2015 · टिप्पणी करे